We have been given to understand that wearing a toe ring by a married woman is mandatory. It is imprinted in our brains that wearing a toe ring brings health, prosperity and longevity to the husband. What we have not understood is the real reason.

 

Real reason behind Toe Rings

1)      A mToe ringajor nerve connects the second toe with the uterus and heart. When a toe ring is worn on this finger it improves the health of the uterus and woman will have healthy, normal menstrual cycles.

2)      It is mandatory that toe rings are to be made of silver. This is because silver is a good conductor and conducts polar energy which is beneficial.

3)      The pressure that a toe ring imparts on the toe has beneficial effect for the health of the individual.

4)      On the lighter side, woman gets protection from unscrupulous elements as it indicates that the woman is married.

             चुटकी (पैर के अंगूठे में पहने जाने वाली अंगूठी), क्यों आवश्यक है स्त्रियों के लिए?

toe ringहम अपने पूर्वजों  से हमेशा से यह सुनते आये हैं की स्त्रियों को हमेशा चुटकी (पैर के अंगूठे में पहने जानी वाली अंगूठी) पहननी चाहिए. स्त्रियों के मस्तिष्क में ये बात बिठा दी जाती है की चुटकी को पहनने से उसके पति के जीवन पर बेहद  ही सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं , इससे पति पत्नी का  जीवन  स्वस्थ एवं खुशहाल व्यतीत होता है और पति की हर संकट से रक्षा होती है.परन्तु यह अधूरा सत्य है वास्तव में हम इसके पीछे छिपे वैज्ञानिक कारणों को नहीं जानते, तो आइये जरा गौर करें की चुटकी पहनने के पीछे  क्या वैज्ञानिक तथ्य छुपे हुए हैं:-

  1. स्त्रियों में  एक अति महत्वपूर्ण  तंत्रिका होती है जो पैर के अंगूठे के पास वाली ऊँगली को स्त्री के ह्रदय एवं  गर्भ दानी से जोड़ती है, जो स्त्रियां पैर के इस ऊँगली में अंगूठी को धारण करती हैं उनके  ह्रिदय में रक्त संचार पर्याप्त मात्रा में होता है और गर्भ धारण के समय उन्हें कष्ट की अनुभूति कम होती है, तथा उनका मासिक धर्म चक्र भी सुचारू रूप से चलता है
  2. इसके वैज्ञानिक महत्व को देखते हुए यह अनिवार्य है की इस ऊँगली में पहने जानी वाली अंगूठी चांदी द्वारा निर्मित होनी चाहिए. इसके पीछे यह तथ्य है की चांदी  विद्युत चालक होता है और ध्रुवीय ऊर्जा को चालित करता है जो उस स्त्री के लिए अत्यंत  लाभप्रद होता है
  3. जो भी स्त्री इसे धारण करती है उसके कई प्रमुख तंत्रिकाओं पर यह एक तनाव उत्पन्न करता है जो उसके स्वास्थ के लिए अति लाभप्रद होता है.
Amit

Amit

Staff writer at Realbharat.org, loves to explore places and adventure sports.

Leave a Response